Kumar Vishwas best 50 shayari in Hindi with images 2020 collection

Dr. Kumar Vishwas Best 50 Shayari Collection of 2020 

डॉ। कुमार विश्वास एक युवा पीढ़ी हिंदी भाषा के शायर और कवि हैं (कुमार विश्वास की best शायरी collection)और युवाओं की आवाज़ भी हैं। डॉ कुमार विश्वास का जन्म 10 फरवरी 1970 को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में हुआ था। 


उन्होंने न केवल भारत में बल्कि जापान, अमेरिका, दुबई और सिंगापुर जैसे विदेशी देशों में भी प्रदर्शन किया है। यह डॉ के लिए सबसे बड़ी सफलता है। कुमार विश्वास ने कहा कि वह विदेशों में भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं। 

वह राजनीतिक में शामिल हो गए और वह आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए लेकिन कुछ समय बाद उन्होंने पार्टी छोड़ दी। कुमार विश्वास ने अपनी जबरदस्त शायरी के साथ कई दिल जीते हैं। ❤️Dr. Kumar Vishwas Shayari collection


kumar vishwas shayari in hindi lyrics



Kumar-vishwas-shayari-in-hindi-with-images-2020


मेरा जो भी तर्जुबा है, तुम्हे बतला रहा हूँ मैं
कोई लब छु गया था तब, की अब तक गा रहा हूँ मैं
बिछुड़ के तुम से अब कैसे, जिया जाये बिना तडपे
जो मैं खुद ही नहीं समझा, वही समझा रहा हु मैं
(kumar vishwas shayari in hindi lyrics)



*****************/*****************



मोहब्बत एक अहसासों की, पावन सी कहानी है,
कभी कबिरा दीवाना था, कभी मीरा दीवानी है,
यहाँ सब लोग कहते हैं, मेरी आंखों में आँसू हैं,
जो तू समझे तो मोती है, जो ना समझे तो पानी है।
(kumar vishwas shayari in hindi lyrics)


*****************/*****************



भ्रमर कोई कुमुदनी पर मचल बैठा तो हंगामा
हमारे दिल में कोई ख्वाब पल बैठा तो हंगामा
अभी तक डूब कर सुनते थे सब किस्सा मोहब्बत का
मैं किस्से को हकीकत में बदल बैठा तो हंगामा
(kumar vishwas shayari in hindi lyrics)



*****************/*****************



कोई खामोश है इतना, बहाने भूल आया हूँ
किसी की इक तरनुम में, तराने भूल आया हूँ
मेरी अब राह मत तकना कभी ए आसमां वालो
मैं इक चिड़िया की आँखों में, उड़ाने भूल आया हूँ
(kumar vishwas shayari in hindi lyrics)


*****************/*****************

(कुमार विश्वास शायरी हिंदी)

ना पाने की खुशी है कुछ, ना खोने का ही कुछ गम है
ये दौलत और शोहरत सिर्फ, कुछ ज़ख्मों का मरहम है
अजब सी कशमकश है,रोज़ जीने, रोज़ मरने में
मुक्कमल ज़िन्दगी तो है, मगर पूरी से कुछ कम है
(kumar vishwas shayari in hindi lyrics)



*****************/*****************
(कुमार विश्वास शायरी हिंदी)

पनाहों में जो आया हो, उस पर वार क्या करना
जो दिल हारा हुआ हो, उस पे फिर से अधिकार क्या करना
मोहब्बत का मज़ा तो, डूबने की कशमकश में है
जो हो मालूम गहरायी, तो दरिया पार क्या करना
(kumar vishwas shayari in hindi lyrics)



*****************/*****************
(कुमार विश्वास शायरी हिंदी)


Kumar-vishwas-shayari-in-hindi-with-images-2020


वो जिसका तीर चुपके से जिगर के पार होता है
वो कोई गैर क्या अपना ही रिश्तेदार होता है
किसी  से अपने दिल की बात तू कहना ना भूले से
यहाँ ख़त भी थोड़ी देर में अखबार होता है
(kumar vishwas shayari in hindi lyrics)



Kumar Vishwas famous shayari in Hindi



तुम्हीं पे मरता है ये दिल अदावत क्यों नहीं करता,
कई जन्मों से बंदी है बगावत क्यों नहीं करता,
कभी तुमसे थी जो वो ही शिकायत है ज़माने से,
मेरी तारीफ़ करता है मोहब्बत क्यों नहीं करता।
(kumar vishwas famous shayari in hindi 2020)



*****************/*****************
(कुमार विश्वास शायरी हिंदी)


मेरे जीने मरने में, तुम्हारा नाम आएगा
मैं सांस रोक लू फिर भी, यही इलज़ाम आएगा
हर एक धड़कन में जब तुम हो, तो फिर अपराध क्या मेरा
अगर राधा पुकारेंगी, तो घनश्याम आएगा
(kumar vishwas famous shayari in hindi 2020)



*****************/*****************
(KUMAR VISHWAS SHAYARI IN HINDI 2021)


मैं उसका हूँ वो इस एहसास से इनकार करती है
भरी महफ़िल में भी, रुसवा हर बार करती है
यकीं है सारी दुनिया को, खफा है हमसे वो लेकिन
मुझे मालूम है फिर भी मुझी से प्यार करता है
(kumar vishwas famous shayari in hindi 2020)



*****************/*****************
(कुमार विश्वास शायरी हिंदी)

हमारे शेर सुनकर भी जो खामोश इतना है
खुदा जाने गुरुर ए हुस्न में मदहोश कितना है
किसी प्याले से पूछा है सुराही ने सबब मय का
जो खुद बेहोश हो वो क्या बताये होश कितना है
(kumar vishwas famous shayari in hindi 2020)



*****************/*****************


Kumar-vishwas-shayari-in-hindi-with-images-2020


कोई पत्थर की मूरत है, किसी पत्थर में मूरत है
लो हमने देख ली दुनिया, जो इतनी खुबसूरत है
जमाना अपनी समझे पर, मुझे अपनी खबर यह है
तुझे मेरी जरुरत है, मुझे तेरी जरुरत है
(kumar vishwas famous shayari in hindi 2020)



*****************/*****************



एक पहाडे सा मेरी उँगलियों पे ठहरा है
तेरी चुप्पी का सबब क्या है? इसे हल कर दे
ये फ़क़त लफ्ज़ हैं तो रोक दे रस्ता इन का
और अगर सच है तो फिर बात मुकम्मल कर दे
(kumar vishwas famous shayari in hindi 2020)



*****************/*****************



सखियों संग रंगने की धमकी सुनकर क्या डर जाऊँगा? 
तेरी गली में क्या होगा ये मालूम है पर आऊँगा, 
भींग रही है काया सारी खजुराहो की मूरत सी, 
इस दर्शन का और प्रदर्शन मत करना, 
मर जाऊँगा!
(kumar vishwas famous shayari in hindi 2020)



*****************/*****************


हमें मालूम है दो दिल जुदाई सह नहीं सकते
मगर रस्मे-वफ़ा ये है कि ये भी कह नहीं सकते
जरा कुछ देर तुम उन साहिलों कि चीख सुन भर लो
जो लहरों में तो डूबे हैं, मगर संग बह नहीं सकते.
Dr. Kumar Vishwas Shayari collection

*****************/*****************

उसी की तरहा मुझे सारा ज़माना चाहे
वो मेरा होने से ज्यादा मुझे पाना चाहे
मेरी पलकों से फिसल जाता है चेहरा तेरा
ये मुसाफिर तो कोई ठिकाना चाहे. 

*****************/*****************

वो जिसका तीर चुपके से जिगर के पार होता है
वो कोई गैर क्या अपना ही रिश्तेदार होता है
किसी  से अपने दिल की बात तू कहना ना भूले से
यहाँ ख़त भी थोड़ी देर में अखबार होता है.

*****************/*****************

कोई कब तक महज सोचे,कोई कब तक महज गाए
ईलाही क्या ये मुमकिन है कि कुछ ऐसा भी हो जाऐ
मेरा मेहताब उसकी रात के आगोश मे पिघले
मैँ उसकी नीँद मेँ जागूँ वो मुझमे घुल के सो जाऐ


*****************/*****************



तुम्हारे पास हूँ लेकिन जो दूरी है, समझता हूँ
तुम्हारे बिन मेरी हस्ती अधूरी है, समझता हूँ
तुम्हें मैं भूल जाऊँगा ये मुमकिन है नहीं लेकिन
तुम्हीं को भूलना सबसे जरूरी है, समझता हूँ



kumar vishwas shayari desh bhakti




तुझ को गुरुर ए हुस्न है मुझ को सुरूर ए फ़न
दोनों को खुदपसंदगी की लत बुरी भी है
तुझ में छुपा के खुद को मैं रख दूँ मग़र मुझे
कुछ रख के भूल जाने की आदत बुरी भी है
(kumar vishwas shayari desh bhakti)



*****************/*****************



दिल तो करता है ख़ैर करता है आप का ज़िक्र 
ग़ैर करता है क्यूँ न मैं दिल से दूँ दुआ उस को 
जबकि वो मुझ से बैर करता है आप तो हू-ब-हू वही हैं 
जो मेरे सपनों में सैर करता है इश्क़ क्यूँ आप से 
ये दिल मेरा मुझ से पूछे बग़ैर करता है 
एक ज़र्रा दुआएँ माँ की ले आसमानों की सैर करता है
(kumar vishwas shayari desh bhakti)



*****************/*****************



Kumar-vishwas-shayari-in-hindi-with-images-2020


तुम्हारा ख़्वाब जैसे ग़म को अपनाने से डरता है
हमारी आखँ का आँसूं , ख़ुशी पाने से डरता है
अज़ब है लज़्ज़ते ग़म भी, जो मेरा दिल अभी कल तक़
तेरे जाने से डरता था वो अब आने से डरता है
(kumar vishwas shayari desh bhakti)



*****************/*****************




हर इक खोने में हर इक पाने में तेरी याद आती है
नमक आँखों में घुल जाने में तेरी याद आती है
तेरी अमृत भरी लहरों को क्या मालूम गंगा माँ
समंदर पार वीराने में तेरी याद आती है
(kumar vishwas shayari desh bhakti)



*****************/*****************



हमें मालूम है दो दिल जुदाई सह नहीं सकते
मगर रस्मे-वफ़ा ये है कि ये भी कह नहीं सकते
जरा कुछ देर तुम उन साहिलों कि चीख सुन भर लो
जो लहरों में तो डूबे हैं, मगर संग बह नहीं सकते
(kumar vishwas shayari desh bhakti)



*****************/*****************



ना पाने की खुशी है कुछ,ना खोने का ही कुछ गम है…
ये दौलत और शौहरत सिर्फ कुछ जख्मों का मरहम है…
अजब सी कशमकश है रोज जीने ,रोज मरने में…
मुक्कमल जिंदगी तो है,मगर पूरी से कुछ कम है…”
(kumar vishwas shayari desh bhakti)



*****************/*****************



गिरेबान चेक करना क्या है सीना और मुश्किल है,
हर एक पल मुस्कुराकर अश्क पीना और मुश्किल है,
हमारी बदनसीबी ने हमें बस इतना सिखाया है,
किसी के इश्क़ में मरने से जीना और मुश्किल है.
(kumar vishwas shayari desh bhakti)



kumar vishwas dosti shayari in hindi




उन की ख़ैर-ओ-ख़बर नहीं मिलती 
हम को ही ख़ास कर नहीं मिलती 
शाएरी को नज़र नहीं मिलती 
मुझ को तू ही अगर नहीं मिलती 
रूह में दिल में जिस्म में दुनिया ढूँढता हूँ 
मगर नहीं मिलती 
लोग कहते हैं रूह बिकती है 
मैं जिधर हूँ उधर नहीं मिलती||
(kumar vishwas dosti shayari in hindi)



*****************/*****************




तुम्ही पे मरता है ये दिल अदावत क्यों नहीं करता
कई जन्मो से बंदी है बगावत क्यों नहीं करता..
कभी तुमसे थी जो वो ही शिकायत हे ज़माने से
मेरी तारीफ़ करता है मोहब्बत क्यों नहीं करता..
(kumar vishwas dosti shayari in hindi)




*****************/*****************



मिले हर जख्म को मुस्कान को सीना नहीं आया
अमरता चाहते थे पर ज़हर पीना नहीं आया
तुम्हारी और मेरी दस्ता में फर्क इतना है
मुझे मरना नहीं आया तुम्हे जीना नहीं आया
(kumar vishwas dosti shayari in hindi)



*****************/*****************




मेरा अपना तजुर्बा है तुम्हे बतला रहा हूँ मैं
कोई लब छू गया था तब के अब तक गा रहा हु मैं
बिछुड़ के तुम से अब कैसे जिया जाए बिना तड़पे
जो में खुद हे नहीं समझा वही समझा रहा हु मैं..
(kumar vishwas dosti shayari in hindi)



*****************/*****************



नज़र में शोखिया लब पर मुहब्बत का तराना है
मेरी उम्मीद की जद़ में अभी सारा जमाना है
कई जीते है दिल के देश पर मालूम है मुझकों
सिकन्दर हूं मुझे इक रोज खाली हाथ जाना है
(kumar vishwas dosti shayari in hindi)



*****************/*****************


Kumar-vishwas-shayari-in-hindi-with-images-2020


मै तेरा ख्वाब जी लून पर लाचारी है
मेरा गुरूर मेरी ख्वाहिसों पे भरी है
सुबह के सुर्ख उजालों से तेरी मांग से
मेरे सामने तो ये श्याह रात सारी है
(kumar vishwas dosti shayari in hindi)



kumar vishwas motivational shayari in hindi




सब अपने दिल के राजा है, सबकी कोई रानी है
भले प्रकाशित हो न हो पर सबकी कोई कहानी है
बहुत सरल है किसने कितना दर्द सहा
जिसकी जितनी आँख हँसे है, उतनी पीर पुराणी है
(kumar vishwas motivational shayari in hindi)



*****************/*****************



फिर मेरी याद आ रही होगी 
फिर वो दीपक बुझा रही होगी 
फिर मिरे फेसबुक पे आ कर वो ख़ुद को बैनर बना रही होगी 
अपने बेटे का चूम कर माथा मुझ को टीका लगा रही होगी 
फिर उसी ने उसे छुआ होगा 
फिर उसी से निभा रही होगी जिस्म चादर सा बिछ गया होगा 
रूह सिलवट हटा रही होगी 
फिर से इक रात कट गई होगी 
फिर से इक रात आ रही होगी||
(kumar vishwas motivational shayari in hindi)




*****************/*****************



पनाहों में जो आया हो तो उस पर वार क्या करना
जो दिल हारा हुआ हो उस पे फिर अधिकार क्या करना
मुहब्बत का मजा तो डूबने की कशमकश में है
हो ग़र मालूम गहराई तो दरिया पार क्या करना।
(kumar vishwas motivational shayari in hindi)



*****************/*****************



सदा तो धूप के हाथों में ही परचम नहीं होता
खुशी के घर में भी बोलों कभी क्या गम नहीं होता
फ़क़त इक आदमी के वास्तें जग छोड़ने वालो
फ़क़त उस आदमी से ये ज़माना कम नहीं होता।
(kumar vishwas motivational shayari in hindi)



*****************/*****************




स्वंय से दूर हो तुम भी स्वंय से दूर है हम भी
बहुत मशहूर हो तुम भी बहुत मशहूर है हम भी
बड़े मगरूर हो तुम भी बड़े मगरूर है हम भी
अतः मजबूर हो तुम भी अतः मजबूर है हम भी
(kumar vishwas motivational shayari in hindi)




*****************/*****************





नज़र में शोखिया लब पर मुहब्बत का तराना है
मेरी उम्मीद की जद़ में अभी सारा जमाना है
कई जीते है दिल के देश पर मालूम है मुझकों
सिकन्दर हूं मुझे इक रोज खाली हाथ जाना है।
(kumar vishwas motivational shayari in hindi)




*****************/*****************



हमने दुःख के महासिंधु से सुख का मोती बीना है
और उदासी के पंजों से हँसने का सुख छीना है
मान और सम्मान हमें ये याद दिलाते है पल पल
भीतर भीतर मरना है पर बाहर बाहर जीना है।
(kumar vishwas motivational shayari in hindi)



*****************/*****************



कोई मंजिल नहीं जंचती, सफर अच्छा नहीं लगता
अगर घर लौट भी आऊ तो घर अच्छा नहीं लगता
करूं कुछ भी मैं अब दुनिया को सब अच्छा ही लगता है
मुझे कुछ भी तुम्हारे बिन मगर अच्छा नहीं लगता।
(kumar vishwas motivational shayari in hindi)



*****************/*****************



उसी की तरह मुझे सारा ज़माना चाहे वो मिरा होने से ज़्यादा मुझे पाना चाहे मेरी पलकों से फिसल जाता है चेहरा तेरा ये मुसाफ़िर तो कोई और ठिकाना चाहे एक बनफूल था इस शहर में वो भी न रहा कोई अब किस के लिए लौट के आना चाहे ज़िंदगी हसरतों के साज़ पे सहमा-सहमा वो तराना है जिसे दिल नहीं गाना चाहे||
(kumar vishwas shayari in hindi image 2020)



*****************/*****************


वो जिसका तीरे छुपके से जिगर के पार होता है
वो कोई गैर क्या अपना ही रिश्तेदार होता है
किसी से अपने दिल की बात तू कहना ना भूले से
यहां खत भी जरा सी देर में अखबार होता है।
(kumar vishwas shayari in hindi image 2020)



kumar vishwas shayari in hindi image


Kumar-vishwas-shayari-in-hindi-with-images-2020


वो जो खुद में से कम निकलतें हैं
उनके ज़हनों में बम निकलतें हैं
आप में कौन-कौन रहता है
हम में तो सिर्फ हम निकलते हैं।
(kumar vishwas shayari in hindi image 2020)



*****************/*****************



भ्रमर कोई कुमुदनी पर मचल बैठा तो हंगामा,
हमारे दिल में कोई ख्वाब पल बैठा तो हंगामा,
अभी तक डूब कर सुनते थे सब किस्सा मोहब्बत का,
मैं किस्से को हकीकत में बदल बैठा तो हंगामा।
(kumar vishwas shayari in hindi image 2020)



*****************/*****************



घर से निकला हूँ तो निकला है घर भी साथ मेरे
देखना ये है कि मंज़िल पे कौन पहुँचेगा
मेरी कश्ती में भँवर बाँध के दुनिया ख़ुश है
दुनिया देखेगी कि साहिल पे कौन पहुँचेगा।
(kumar vishwas shayari in hindi image 2020)



*****************/*****************


मोहब्बत एक अहसासों की पावन सी कहानी है
कभी कबीरा दीवाना था, कभी  मीरा दीवानी है
यहाँ सब लोग कहते है, मेरी आँखों में पानी है
जो तुम समझो तो मोती है, जो ना समझो तो पानी है. 


*****************/*****************


पनाहों में जो आया हो, तो उस पर वार क्या करना
जो दिल हारा हुआ हो उस पे फिर अधिकार क्या करना
मुहब्बत का मजा तो डूबने की कशमकश में है ||
Dr. Kumar Vishwas Shayari collection

*****************/*****************


ये वो ही इरादें हैं, ये वो ही तबस्सुम है
हर एक मोहल्लत में, बस दर्द का आलम है
इतनी उदास बातें, इतना उदास लहजा ,
लगता है की तुम को भी, हम सा ही कोई गम है.  
Dr. Kumar Vishwas Shayri collection

*****************/*****************

Doston उम्मीद करते है आपको ये  शायरी कलेक्शन पसंद आया होगा ! और दिल को छूने वाली  शायरी  पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट visit करें

धन्यवाद ✌
Previous
Next Post »

4 Comments

Click here for Comments
Unknown
admin
April 8, 2021 at 10:37 AM ×

बहुत खूब कुमार भाई
बहुत अच्छा लिखते हैं आप
एक बात पूछना चाहते हैं आपसे कि बिना प्यार किये कोई प्यार की बातें समझ सकता है क्या
आपसे अगर एक बार बात हो जाये तो मुझे अच्छा लगेगा

Reply
avatar
Unknown
admin
July 30, 2021 at 10:30 PM ×

बेहतर से बेहतर की तलाश करो मिल जाए नदी तो समंदर की तलाश करो आदरणीय कुमार विश्वास

Reply
avatar
Unknown
admin
August 11, 2021 at 1:49 PM ×

Mai aapki sabse bari fan hu mujhe aapki saari shayri pasand h mai aapki har kavi padhti hu pliz ek baar mujhse baat kr lijiy sir pliz

Reply
avatar